Home >> Satsang Extracts

Satsang Extracts

Paror Satsang – 7 May 2017

7-5-2017 (7-मई-2017) परोर सत्संग – Paror satsang. बाणी: हुजूर स्वामी जी महाराज शब्द : धुन सुनकर मन समझाई बाबा जी ने सतसंग में फरमाया कि इस जीवन की गाडी की स्टीयरिंग उस मालिक के हाथ मे है, जिस प्रकार यदि हमें कहीं जाना हो तो हम बस, ट्रेन आदि में सफर करते हैं तो उस गाडी का स्टीयरिग व्हील ड्राईवर ...

Read More »

Allah ki Marzi – Baba Ji Satsang

ये कहानी एक सत्संगी ने भेजी है, बड़े महाराज जी ने एक सत्संग में सुनाई एक बादशाह था, वह जब नमाज़ के लिए मस्जिद जाता, तो 2 फ़क़ीर उसके दाएं और बाएं बैठा करते! दाईं तरफ़ वाला कहता: “या अल्लाह! तूने बादशाह को बहुत कुछ दिया है, मुझे भी दे दे!” बाईं तरफ़ वाला कहता: “ऐ बादशाह! अल्लाह ने तुझे ...

Read More »

Baba ji Satsang – Delhi – Part2

सत्संग बाबा जी – स्थान नई दिल्ली बाबा जी ने 1.5 hrs का सत्संग फ़रमाया शब्द : श्री गुरु अर्जन देव जी का श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी में से पहला भाग पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 4. धर्म स्थानों पर माथे टेकने से, लेटने से या दिखावा करने से कोई मालिक का असली भक्त नहीं हो जाता, यह ...

Read More »

Short Story told by Baba Ji during Satsang

Baba ji shared this story in Delhi Satsang (1 Dec 2012) in English एक बार एक महात्माजी अपने कुछ शिष्यों के साथ जंगल में आश्रम बनाकर रहते थें, एक दिन कहीं से एक बिल्ली का बच्चा रास्ता भटककर आश्रम में आ गया । महात्माजी ने उस भूखे प्यासे बिल्ली के बच्चे को दूध-रोटी खिलाया । वह बच्चा वहीं आश्रम में ...

Read More »